प्रदेश

निर्वाचन आयोग का पहला स्टेप, इस प्लानिंग से होंगे मध्य प्रदेश में चुनाव

मध्य प्रदेश  में विधानसभा चुनाव 2023 के लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं. राजनीतिक दलों अपने प्रचार प्रसार में लगे हैं, वहीं चुनाव आयोग मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए दमखम लगा रहा है. इस बार मध्य प्रदेश में महिला मतदान प्रतिशत बढ़ाने और वोटर लिस्ट में इनकी संख्या बढ़ाने के लिए काम किया जा रहा है. आयोग ने इसके लिए प्लान तैयार कर लिया है. इस काम में प्रदेश की आगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की मदद ली जाएगी.

आशा कार्यर्ताओं को आयोग को आस

मध्य प्रदेश के जिन जिलों में पुरूष मतदाताओं की तुलना में महिला मतदाताओं की संख्या कम. वहां, जेंडर रेशियो बढ़ाने के लिए आशा कार्यकर्ताओं आशा कार्यकर्ताओं की मदद ली जाएगी. आयोग ने एक प्लान बनाया है, जिसके तहत बीएलओर घर-घर दस्तक देगें और लोगों को मतदान के प्रति जागरुक करेंगे. इसके साथ ही जिन योग्य लोगों का नाम सूची में नहीं है या जिनके वोटर कार्ड नहीं बने हैं. उन्हें इस संबंध में मदद की जाएगी.

अभी क्या है मतदाताओं के आंकड़े?

– कुल मतदाताओं की संख्या 5 करोड़ 36 लाख 17 हजार 266 है

– इसमें पुरुष मतदाता दो करोड़ 77 लाख 89 हजार 621 हैं

– महिला मतदाता दो करोड़ 58 लाख 26 हजार 293 हैं

– थर्ड जेंडर मतदाताओं की संख्या 1 हजार 352 है

– सेवा मतदाताओं की संख्या 76 हजार 229 है

निर्वाचन पदाधिकारी ने दिए निर्देश

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अनुपम राजन ने मतदाता सूची पुनरीक्षण की समीक्षा की और प्रदेश भर के उप जिला निर्वाचन अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि जिन जिलों में 18-19 वर्ष की आयु के नए मतदाताओं के आवेदन कम मिले हैं वहां विशेष प्रयास किए जाएं. यदि लक्ष्य के अनुसार नए मतदाताओं का नाम सूची में जोड़ने के आवेदन नहीं आ रहे हैं तो बीएलओ घर-घर जाकर आवेदन लें.

Back to top button